राशन कार्ड बनवाने के लिए सरकार ने पेश की नई गाइडलाइन

0
राशन कार्ड नई गाइडलाइन

Ration Card New Rules and Regulations Guidelines In Hindi 2020| राशन कार्ड बनवाने के लिए केंद्र सरकार ने पेश की नई गाइडलाइन. आइये जाने केद्र सरकार द्वारा राशनकार्ड को लेकर क्या नये कदम उठाये जा रहे है ?

(उत्तराखंड ) राशन कार्ड जो की महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है और इसका उपयोग कर भारतीय नागरिक उचित मूल्य (कम दामों) में राशन की सरकारी दुकानों या डिपो से सामान खरीद सकते है .जानकारी के लिए आपको बता दे की यह कार्ड राज्य सरकार द्वारा सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) जो की एक भारतीय खाद्य सुरक्षा प्रणाली है उसके तहत राज्य के लोगों के लिए जारी किया जाता है ।

राशन कार्ड का उपयोग  : यह कार्ड सरकार द्वारा APL (गरीबी रेखा से ऊपर), BPL (गरीबी रेखा से नीचे) और अन्‍त्‍योदय (सबसे गरीब परिवार के लिए) परिवार को उचित मूल्य पर राशन प्रदान करती है। तथा इसका उपयोग पहचान पत्र के रूप में भी किया जाता है।

देश में राशन कार्ड से को लेकर आये दिन फर्जीवाड़े की खबरे आती  है . लोग एक ही परिवार में रहते हुए सभी सदस्यों के अलग-अलग राशन कार्ड बनवा कर इसका दुरूपयोग करते है .

अब इसके प्रति केंद्र सरकार ने कड़े कदम उठाने का फैसला करते हुए हाल ही में नई गाइडलाइन पेश की है , जिसके बाद सरकार द्वारा दो महत्वपूर्ण शर्तों को लागू किया जा रहा है .

इसे भी देखें : यूपी राशन कार्ड नई सूची यहाँ पर देखें

राशन कार्ड बनवाने के लिए केंद्र ने जारी की नई गाइडलाइन 2019-20

हाल ही में केंद्र सरकार ने राशन कार्ड के तहत होने वाले फर्जीवाड़े को रोकने के लिए नई गाइडलाइन जारी की है , इस गाइडलाइन के बाद अब आपको निम्नलिखित दो शर्तों को पूरा करना होगा तभी आप अपने लिए नया राशन कार्ड  बनवा सकेंगे . आइये जानते है की केद्र द्वारा राशनकार्ड को लेकर क्या नये कदम उठाये जा रहे है ?

केंद्र सरकार की नई गाइडलाइन के तहत कोई व्यक्ति अपने परिवार से अलग राशन कार्ड बनवाना चाहता है, तो उसे यह साबित करने के लिए की वो परिवार से अलग रह रहा है उसे अपने रसोई गैस और बिजली कनेक्शन की रसीद आवेदन पत्र के साथ अनिवार्य तौर पर सलग्न (लगानी ) करनी होगी।

ये भी जाने : हरियाणा राशन कार्ड रजिस्ट्रेशन 2020

सरकार द्वारा Integrated Management of Public Distribution System (IM-PDS) के तहत राशन कार्ड की एक Central Repository (केंद्रीय संग्रह केंद्र) बनाने का कार्य किया जा रहा है। इस प्रणाली के तहत रसद विभाग के द्वारा राशनकार्ड Digitization भी किया जा रहा है । जिसके अंतर्गत सभी उपभोक्ताओं से आधार कार्ड, बिजली बिल ,गैस कनेक्शन सहित सभी अन्य जरुरी डाक्यूमेंट्स मांगे जा रहे हैं।

साथ ही नये राशन कार्ड में कोई त्रुटि न रह जाए इसके लिए सत्यापन का कार्य भी साथ-साथ किया जा रहा है। विभाग में राशन कार्ड बनाने व नवीनीकरण का कार्य शुरू हो गया है।

– जसवंत सिंह कंडारी, जिला आपूर्ति अधिकारी
Print Friendly, PDF & Email

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here